Tadka Shayari

Tadka Shayari | तड़का शायरी | तड़का पोएट्री 

poetrytadka dard

poetrytadka dard

जब दर्द हदसे गुज़र जाता है तब इन्सान रोता नही खामूश हो जाता है

poetrytadka wzah

poetrytadka wzah

मुझे नजर अन्दाज़ करने की तू एक वज़ह बता दे
फिर तुझे चाहने की हजार वजह बताऊंगा

poetrytadka mohabbat

poetrytadka mohabbat

रात की तन्हाई में तो हर कोई याद कर लेता है
जो सुबह उठ कर याद करे मोहब्बत उसे कहते है

poetrytadka love

poetrytadka love

प्यार सिर्फ आई लव यू बोलने से नही होता
एक दुसरे की फीलिंग समझनी पड़ती है रिश्ता निभाने के लिए

poetrytadka intezaar

poetrytadka intezaar

उनकी अपनी मर्जी हो तो हमसे बात करते है
और हमारा पागलपन देखो के सारा दिन हम उनकी मर्ज़ी का इन्तजार करते है

poetrytadka saccha pyar

poetrytadka saccha pyar

तुमसे जो किया था वो सच्चा प्यार था
किसी और से अब जो होगा वह समझोता होगा

poetrytadka pyar

poetrytadka pyar

प्यार में लोग मजबूत इतने हो जाते है की दुनिया से लड़ जाते है
और कमज़ोर इतने हो जाते है की एक इन्सान के बिना नही रह पते है

poetrytadka poetry status

poetry status

लगता था उससे बिछडेगे तो मर जाएंगे
कमाल का वहम था कमबख्त बुखार तक नही आया

poetry shayari sms

poetry shayari

दुनिया को नफरत का यकीन नही दिलाना पड़ता
मगर लोग मोहब्बत का सबूत जरूर मांगते है

poetrytadka shayari

poetry sms

जमाने की नजर में थोडा सा अकड़ के चलना सिख ले ऐ दोस्त
मोम जैसा दिल लेकर फिरोगे तो लोग जलाते ही एहेंगे