शानदार शायरी


shayri shayari

Jabse dekha

जब से देखा है चाँद को तन्हा
तुम से भी कोई शिकायत ना रही

jab se dekha hai chaand ko tanha
tum se bhi koy shikaayat na rahi
शानदार शायरी, shandar shayari

zaroori to nahin shayari

Zaroori to nahin

ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है

zaroori to nahin ke shaayari vo hi kare jo ishk mein ho
zindagi bhi kuchh zakhm bemisaal diya karati hai
शानदार शायरी, Shandar Shayari

yahan mera shayari

Yahan mera

यहाँ मेरा कोई अपना नहीं है.
चलो अच्छा है कुछ ख़तरा नहीं है

yahaan mera koy apana nahin hai.
chalo achchha hai kuchh khatara nahin hai
शानदार शायरी, Shandar Shayari

pyar to zindagi shayari

Pyar to zindagi

प्यार तो जिंदगी का एक अफसाना है,
इसका अपना ही एक तराना है,
सबको मालूम है कि मिलेंगे सिर्फ आंसू
पर न जाने क्यों, दुनियां में हर कोई इसका दीवाना है.

pyaar to jindagi ka ek aphasaana hai,
isaka apana hee ek taraana hai,
sabako maaloom hai ki milenge sirph aansoo
par na jaane kyon, duniyaan mein har koee isaka deevaana hai.

loading...
dam nahin kisi me

Dam nahin kisi me

दम नहीं किसी में,जो मिटा सके हमारी हस्ती को
जंग तलवारो को लगती है,नेक इरादो को नहीं

dam nahin kisi mein,jo mita sake hamaari hasti ko
jang talavaaro ko lagati hai,nek iraado ko nahin
शानदार शायरी, Shandar Shayari

ab hum shayari

Ab hum

अब हम इश्क के उस मुक़ाम पर आ चुके हैं.
जहां दिल किसी और को चाहे भी तो गुनाह होता है

ab ham ishq ke us muqaam par aa chuke hain.
jahaan dil kisi aur ko chaahe bhi to gunaah hota hai
शानदार शायरी, Shandar Shayari

baat shayari

Baat shayari

बात वफाओँ की होती तो कभी ना हारते हम
खेल नसीबोँ का था भला उसे कैसे हराते

baat wfaao kee hoti to kabhi na haarate ham
khel naseebon ka tha bhala use kaise haraate

bahte pani si shandar shayari

Bahte pani si shandar shayari

तू बहते पानी सी है…. हर शक्ल में ढल जाती है,
मैं रेत सा हूँ… मुझसे कच्चे घर भी नहीं बनते

too bahate paani si hai…. har shakl mein dhal jaati hai,
main ret sa hoon… mujhase kachche ghar bhi nahin banate
शानदार शायरी, Shandar Shayari

neend shandar shayari

Neend shandar shayari

नींद भी मोहब्बत बन गयी है
बेवफा रात भर नहीं आती

neend bhi mohabbat ban gayi hai
bewfa raat bhar nahin aati
शानदार शायरी, Shandar Shayari

shandar shayari

Na peechey mud

ना पीछे मुड़ के तुम देखो ना आवाज़ दो मुझ को
बड़ी मुश्किल से सीखा है तुमको अलविदा कहना

na peechhe mud ke tum dekho na aavaaz do mujh ko
badi mushkil se seekha hai tumako alavida kahana
शानदार शायरी, Shandar Shayari