jazbaat shayari


shayari world jazbaat shayari juda hoke bhi

juda hoke bhi

जुदा हो कर भी जी रहे है दोनों एक बरसो से 

कभी दोनों कहा करते थे ऐसा हो नहीं सकता 

shayari world jazbaat shayari kuch baat to hai

kuch baat to hai

कुछ बात तो है तेरे बातो में जो बात यहा तक आ पहुची

हम दिल से गए दिल हमसे गया ये बात कहा तक जा पहुंची

shayari world jazbaat shayari hum marjaaege

hum mar jaaege

तुम्हे ही सहना पड़ेगा गम जुदाई का 

मेरा क्या है मै तो मर जाऊँगा 

shayari world jazbaat shayari wo kagaz aaj bhi

wo kagaz aaj bhi

वो कागज आज भी मुझे फूलो की तरह लगता है 

जिसपे तुमने लिखा था मुझे तुमसे मोहब्बत है 

loading...
shayari world jazbaat shayari ksh tu dekh sake

ksh tu dekh sake

काश तु देख सके मेरी उदासी के वो पल 

कितनी प्यार से तेरी याद मेरी नीद चुरा लेती है

shayari world jazbaat shayari mujhe kya pta

mujhe kya pta

मुझे क्या पता यहा तुम से अच्छा है या नही 

तुमहारे सिवा किसी और को गौर से देखा ही नहीं

poems bucket shayari world jazbaat shayari

bhut roka mgar

बहुत रोका मगर कहा तक रोकता 

मोहब्बत बढती गई तुमहारे नखरो की तरह 

shayari world jazbaat shayari kaise maan loo

kaise maan loo

मै ये  कैसे मन लू की कोई नहीं मेरा 

जब तक खुदा की जात है तनहा नहीं हूँ मै 

shayari world jazbaat shayari chahat mohabbat wfa

chahat mohabbat wfa

ना चाहत है ना मोहब्बत है ना इश्क है ना वफा 

जो कुछ भी  था मेरे पास वो सब तुमको दे दिया 

shayari world jazbaat shayari mere zindagi ka swal hai

mere zindagi ka swal hai

तेरी दिल फरेब अदाए मेरी जान ले सकती है 

अपना अंदाजे नज़र बदलो मेरी ज़िन्दगी का सवाल है