Dua shayari


Dhaga he samajh

धागा ही समझ, तू अपनी "मन्नत" का मुझे
तेरी दुआओ के मुकम्मल होने का दस्तूर हूँ मैं.

dua shayari mere khuda too unhe maaf kar

mere khuda too unhe maaf kar

मेरे अश्को से तू अपना दामन साफ कर 

अकेले तड़पता हूँ ऐ खुदा इन्साफ कर 

उनकी बेवफाई में कुछ राज छुपा है 

मेरे खुदा तू उनके हर गुनाह माफ़ कर 

 

khushiyan dua shayari

Jo log doosron ko

जो लोग दूसरो को अपनी दुआओं में शामिल करते हैं…
खुशियाँ सब से पहले उन्हीं के दरवाज़े पे दस्तक देती हैं…!!

Jo dil mai hai wo hazar baar mile

Saari umar tum ko pyar mile

Jo dil mai hai wo hazar baar mile

Bichar jate hai milne ke bad bhi kuch log

Jo kbhi na bichre aisa tumko yar mile....!!

 

loading...

Dua karo wo mil jaye

दुवा‬ करो वो मुझको मिल जाए यारो...

‪सुना‬ है ‪दोस्तों‬ की ‪दुआ‬ में फरिश्तों की ‪‎आवाज़‬ होती है

Jab maa Jati hai

जब माँ छोड़कर जाती है
तब दुनिया में कोई दुआ देने वाला नहीं होता..

और जब पिता छोड़कर जाता है
तब कोई हौसला देने वाला नहीं होता..

mere ibadto ko qabool kar

मेरी इबादतों को ऐसे कबूल कर ऐ मेरे.खुदाकि सजदों में मैं झुकूँ !
और..मुझसे जुड़ेहर रिश्ते की.ज़िन्दगी संवर जाए !!

duaa kon si thi

दुआ कौन सी थी बस याद नही दो हथेलीयां
जुङी थी एक तेरी थी एक मेरी !!

meri duaa hai ki tu jise bhi mile

हर सुबह तु मुस्कुराती रहे हर शाम तु गुनगुनाती रहें !
मेरी दुआ हैं की तू जिसे भी मिलें हर मिलने वाले को तेरी याद सताती रहें !!

meri takdir me likh diya hota

उसकी हसरत को मेरे दिल में लिखने वाले !
काश उसे भी मेरी तकदीर में लिख दिया होता !!

loading...