Barish shayari


barish shayri 2 line

barish shayri 2 line

Rahne Do Ab K Tum Bhi Mujhe Padh Na Sakoge.
Barsaat Me Kagaz Ki TarahBheeg Gaya Hun Main

barish shayari naseeb ki

naseeb ki barishain

नसीब की बारिश कुछ इस तरह से होती रही मुझ पे...

ख्वाहिशे सुखती रही और पलके भीगती रही

barish shayari sawan aag lga ke chal diya

sawan aag lga ke chal diya

sapno me bhi mil naa sake ab neend bhi tere tath gaay sawan aag lga ke chal diya ro ro ke barsat huay !!

sari raat barish hoti

अगर मेरी चाहतो के मुताबिक जमाने में हर बात होती !

तो बस मै होता तुम होती और सारी रात बरसात होती !!

loading...

Kabhi aankhen barasti hain

हमारे शहर आ जाओ सदा बरसात रहती है ......

कभी बादल बरसते है...कभी आँखे बरसती है ...!!

barish shayri sms baris teri yado me chalte chalte

teri yado me chalte chalte

कहीं फिसल ही न जाऊँ तेरी याद में चलते-चलते !
रोक अपनी यादों को मेरे शहर में बारिश का समाँ है !!

aaj halki halki barish hai barsh shayari in hindi and barish poetry

Aaj halki halki barish hai

Aye barish baras khoob barsh

ए बारिश बरस.. बरस... और बरस !

आज तू उसकी यादों को बहा लेजा !!

ye barish ka mausam hindi shayari on barish

Ye Barish ka mausam

ये मौसम बारिश का अब पसंद नहीं मुझे!

आंसू ही बहुत हैं मेरे भीग जाने के लिए!!

barish shayari of the day in hindi

Barish shayari of the day in Hindi

पहले बारिश होती थी तो याद आते थे !

अब जब याद आते हो तो बारिश होती है !! 

Barish shayari of the day in Hindi