poetrytadka wzah

poetrytadka wzah

मुझे नजर अन्दाज़ करने की तू एक वज़ह बता दे
फिर तुझे चाहने की हजार वजह बताऊंगा

from Tadka Shayari


loading...
loading...