kon kisko yaad

कौन किसे याद रखता है यहाँ ख़ाक हो जाने के बाद

कोयला भी कोयला नहीं रहता राख हो जाने के बाद

from हिंदी शायरी


loading...
loading...