ab kya holi

अब क्या खा़क मनाऊँ गा होली
जब वो ही किसी और की हो ली

Read More Holi Shayari